Fluid Inclusion


सीदसा दिखते हो, सादासा दिखते हो
आंखोंमे बसते हो, हलचल मचाते हो

उछलते हुए निकलते हो
अचानक टपकते हो
न जाने कहाँ तुम छुप छुपके रहते हो

उबलते हो, पिघलते हो
चहरा बदलते हो
अपनेही दुनिया में तुम खोये रहते हो

मुश्किल नहीं है तुजे पहचानना
मुंकिन नहीं है पर तुजे हम समजना

Comments

Popular posts from this blog

A song very close to my heart.....

Go…Goa…Green