Posts

Showing posts from November, 2012

Whom to love…

Today I am gifting you…. my life..

Trying to identify the unidentifiable.........

जहा तुम मिले

एक छबी तेरी आँखोमे बसाके
एक नज़र तेरी राहोंमे बिचाके

आंधेरोंसी  इस जीवन के सफ़र में

यूँही निकल पड़े है हम !

बस साथ लिये ...

एक उम्मीद का चिराग

दिलमे लिये ...

तेरी मोहब्बत का आग 

अंजानासी इस प्यार के नगर मे 

यूँही निकल पड़े है हम !

नजाने कहा, कब तुम मिल जाओगी ....
बस एक बात जरूर समज लीजिये जानम 

जहा तुम मिले


वही मेरे मंजिल  है

वही मेरे जन्नत है



“Love is blind”

We Are Never Ever Getting Back Together

Image