Posts

Showing posts from May, 2014

लगता नहीं दिल कही...

Image
लंबी लग रहे दिन
सूनी  होगये रात
कैसे मै तुझसे कहूँ
लगता नहीं दिल कही...
बिन तेरे साथ 

एक आलम वह बी था
एक आलम यह बी है

बारिश से बीगा ज़मीन
जब था तेरे साथ

रूखी सूखी रेत बनगये
जब से छूटा तेरे साथ

अब तो न बादल हैं
न बरस ने के मौसम है
फिर बी ढूंढ थी है मेरी नयना
हर पल बस तेरा ही साथ

तुज से मेरी ज़िन्दगी है
तुझ से मेरी दिन रात
आज़ाओ अब तो जानम
टूट न जाये मेरी ये सांस

Hey... I don’t know how to define

Image

I am Listening to.....

Love that life....

To, God....with love!

TRUTH.......